EBOOK HINDI

Vachan Badlo ( वचन बदलने वाले शब्द ) 250+ उदाहरण सहित

Vachan Badlo :- भाषा विज्ञान में वचन (नम्बर) एक संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण और क्रिया आदि की व्याकरण सम्बन्धी श्रेणी है जो इनकी संख्या की सूचना देती है (एक, दो, आदि)। अधिकांश भाषाओं में दो वचन ही होते हैं- एकवचन तथा बहुवचन , किन्तु संस्कृत तथा कुछ और भाषाओं में द्विवचन भी होता है।

Vachan Badlo ( वचन बदलने वाले शब्द ) 250+ उदाहरण सहित

Vachan Badlo ( वचन बदलने वाले शब्द ) 250+ उदाहरण सहित

हिन्दी में वचन

हिन्दी में वचन दो होते हैं-

शब्द के जिस रूप से एक ही वस्तु का बोध हो, उसे एकवचन कहते हैं। जैसे-लड़का, गाय, सिपाही, बच्चा, कपड़ा, माता, माला, पुस्तक, स्त्री, टोपी बंदर, मोर आदि।

शब्द के जिस रूप से अनेकता का बोध हो उसे बहुवचन कहते हैं। जैसे-लड़के, गायें, कपड़े, टोपियाँ, मालाएँ, माताएँ, पुस्तकें, वधुएँ, गुरुजन, रोटियाँ, स्त्रियाँ, लताएँ, बेटे आदि।

हिन्दी में एकवचन के स्थान पर बहुवचन का प्रयोग

  • (क) आदर के लिए भी बहुवचन का प्रयोग होता है। जैसे-
(1) भीष्म पितामह तो ब्रह्मचारी थे।
(2) गुरुजी आज नहीं आये।
(3) शिवाजी सच्चे वीर थे।
  • (ख) बड़प्पन दर्शाने के लिए कुछ लोग वह के स्थान पर वे और मैं के स्थान हम का प्रयोग करते हैं जैसे-
(1) मालिक ने कर्मचारी से कहा, हम मीटिंग में जा रहे हैं।
(2) आज गुरुजी आए तो वे प्रसन्न दिखाई दे रहे थे।
  • (ग) केश, रोम, अश्रु, प्राण, दर्शन, लोग, दर्शक, समाचार, दाम, होश, भाग्य आदि ऐसे शब्द हैं जिनका प्रयोग बहुधा बहुवचन में ही होता है। जैसे-
(1) तुम्हारे केश बड़े सुन्दर हैं।
(2) लोग कहते हैं।

बहुवचन के स्थान पर एकवचन का प्रयोग

  • (क) तू एकवचन है जिसका बहुवचन है तुम किन्तु सभ्य लोग आजकल लोक-व्यवहार में एकवचन के लिए तुम का ही प्रयोग करते हैं जैसे-
(1) मित्र, तुम कब आए।
(2) क्या तुमने खाना खा लिया।
  • (ख) वर्ग, वृंद, दल, गण, जाति आदि शब्द अनेकता को प्रकट करने वाले हैं, किन्तु इनका व्यवहार एकवचन के समान होता है। जैसे-
(1) सैनिक दल शत्रु का दमन कर रहा है।
(2) स्त्री जाति संघर्ष कर रही है।
  • (ग) जातिवाचक शब्दों का प्रयोग एकवचन में किया जा सकता है। जैसे-
(1) सोना बहुमूल्य वस्तु है।
(2) मुंबई का आम स्वादिष्ट होता है।

 

Vachan Badlo ( वचन बदलने वाले शब्द ) 250+ उदाहरण सहित

 

एकवचनबहुवचन
 कलमकलमें
 पुस्तकपुस्तकें
 आंखआंखें
 रातरातें
 बातबातें
 कविताकविताएँ
 लतालताएँ
 मातामाताएँ
 वस्तुवस्तुएँ
 लड़कालड़के
 संतरासंतरे
 रास्तारास्ते
 इरादाइरादे
 छाताछाते
 पंखापंखे
 पौधापौधे
 वादावादे
 जातिजातियाँ
 सखीसखियाँ
  नदीनदियाँ
 टोपीटोपियाँ
 तिथितिथियाँ
बच्चाबच्चे
 तोतातोते
 पटाखापटाखे
 मेलामेले
  घोड़ाघोड़े
 बछड़ाबछड़े
 जूताजूते
 दीवारदीवारें
 किताबकिताबें
 बहनबहने
 सड़कसड़कें
 बातबातें
 मछलीमछलियाँ
  देवीदेवियाँ
 शक्तिशक्तियाँ
 रोटीरोटियाँ
 निधिनिधियाँ
 घटनाघटनाएँ
 कथाकथाएँ
 सभासभाएँ
 सेनासेनाएँ
मालामालाएँ
पहियापहिए
शिक्षिकाशिक्षिकाएँ
शेरनीशेरनियाँ
पेटीपेटियाँ
कुर्सीकुर्सियाँ
दवाईदवाइयाँ
ऋतुऋतुएँ
कन्याकन्याएँ
परीक्षापरीक्षाएं
कलीकलियाँ
रुपयारूपये
मुर्गामुर्गे
चादरचादरे
कारकारें
गेंदगेंदे
सपेरासपेरे
तालाताले
दावतदावतें
थालीथालियाँ
सखीसखियाँ
बहूबहुएँ
देवीदेवियाँ
गधागधे
चुहियाचुहियाँ
खटियाखटियाँ
लुटियालुटियाँ
डिबियाडिबियाँ
देवदेवगण
बालकबालकगण
अध्यापकअध्यापकगण
झूलाझूले
बंगलाबंगले
गन्नागन्ने
झाड़ीझाड़ियाँ
कहानीकहानियाँ
विद्याविद्याएँ
पत्रिकापत्रिकाएँ
सपेरासपेरे
बिल्लीबिल्लियाँ
परदापरदे
भुजाभुजाएँ
कविकविगण
मटकामटके
आत्माआत्माएँ
चश्माचश्मे
गोलागोले
केलाकेले
कलाकलाएँ
श्रोताश्रोतागण
प्यालाप्याले
टुकड़ीटुकड़ियाँ
लड़ी लड़ियाँ
बर्फी बर्फियाँ
स्त्री स्त्रियाँ
फसलफसलें
उँगलीउँगलियाँ
खुरपीखुरपियाँ
ध्वनीध्वनियाँ
नारीनारियाँ
नीतिनीतियाँ
त्रुटीत्रुटियाँ
गाड़ीगाड़ियाँ
क्यारीक्यारियाँ
तितलीतितलियाँ
धेनुधेनुएँ
विधिविधियाँ
परीपरियाँ
चीताचीते
तलवारतलवारें
राशीराशियाँ
मातामाताएँ
नदीनदियाँ
साड़ीसाड़ियाँ
भेड़ियाभेड़ियाँ
बुढियाबुढियाँ
गुड़ियागुड़ियाँ
थालीथालियाँ
समितिसमितियाँ
कोठरीकोठरियाँ
पसलीपसलियाँ
सीमासीमाएँ
यात्रायात्राएँ
घंटाघंटे
लकीरलकीरें
दरवाजादरवाजे
तंत्रिकातंत्रिकाएँ
धमनीधमनियाँ
चोटीचोटियाँ
भुजाभुजाएँ
मुद्रामुद्राएँ
रानीरानियाँ
मालामालाएँ
धाराधाराएँ
कन्याकन्याएँ
कक्षाकक्षाएँ
शिलाशिलाएँ
मेजमेजें
जूँजुएँ
डोलीडोलियाँ
सुईसुइयाँ
मक्खीमक्खियाँ
पहाड़ीपहाड़ियाँ
हाथीहाथीगण
चनाचने
जूताजूते
लोटालोटे
कुरताकुरते
भालाभाले
कालाकाले
तालीतालियाँ
गुरुगुरुजन
खिलाड़ीखिलाड़ी
बच्चाबच्चे
नदीनदियाँ
नारीनारियाँ
सब्जीसब्जियाँ
मोरमोर
रातरातें
भक्तभक्तगण
टुकड़ीटुकड़ियाँ
लड़ीलड़ियाँ
धातुधातुएँ
बर्फीबर्फियाँ
धेनुधेनुएँ
जातिजातियाँ
लेखकलेखकगण
स्त्रीस्त्रियाँ
थालीथालियाँ
फसलफसलें
कन्याकन्याएँ
औज़ारऔज़ार
हथियारहथियार
उँगलीउँगलियाँ
तिथितिथियाँ
मातामाताएँ
अबलाअबलाएँ
कुत्ताकुत्ते
गलीगलियाँ
मुर्गीमुर्गियाँ
कामनाकामनाए
गन्नागन्ने
वधूवधुएँ
झाड़ीझाड़ियाँ
विधिविधियाँ
बहूबहुएं
लतालताएँ
प्यालाप्याले
सखीसखियाँ
घरघर
देशदेश
रिश्तारिश्ते
कलीकलियाँ
कलमकलमें
लड़कीलड़कियाँ
लड़कालड़के
कहानीकहानियाँ
कथाकथाएँ
कविताकविताएँ
मैदानमैदान
गुड़ियागुड़ियाँ
गतिगतियाँ
शाखाशाखाएँ
विद्याविद्याएँ
गऊगउएँ
खिड़कीखिड़कियाँ
पत्रिकापत्रिकाएँ
घोड़ाघोड़े
गधागधे
साइकिलसाइकिलें
पपीतापपीते
लठियालुठियाँ
घड़ीघड़ियाँ
दीवारदीवारें
विद्यार्थीविद्यार्थीगण
महलमहल
लुटियालुटियाँ
नालीनालीयाँ
सपेरासपेरे
कानकान
आँखआँखें
पैरपैर
टाँगटाँगें
भेड़भेड़ें
बकरीबकरियाँ
सड़कसड़कें
गाड़ीगाड़ियाँ
दूरीदूरियाँ
चुहियाचुहियाँ
बिल्लीबिल्लियाँ
जुजुएँ
पेड़पेड़
परदापरदे
बातबातें
चुटियाचुटियाँ
गौगौएँ
दानादानें
तोतातोते
वाद्यवाद्य
भुजाभुजाएँ
रीतिरीतियाँ
प्रजाप्रजाजन
कर्मचारीकर्मचारीवर्ग
दवादवाएँ
कविकविगण
घोंसलाघोंसले
पक्षीपक्षीवृंद
ढेलाढेले
कुर्सीकुर्सियाँ
सहेलीसहेलियाँ
आपआपलोग
बस्ताबस्ते
मुद्रामुद्राएँ
अध्यापिकाअध्यापिकाएँ
पुस्तकपुस्तकें
गहनागहने
गरीबगरीब लोग
व्यापारीव्यापारीगण
मटकामटके
पौधापौधे
डिबियाडिबियाँ
शेरशेर
बेटाबेटे
खंभाखंभे
पातीपातियाँ
तरुतरुओं
वस्तुवस्तुएँ
सेनासेनादल
आत्माआत्माएँ
बर्तनबर्तन
मिठाईमिठाईयाँ
जानवरजानवर
समुद्रसमुद्र
मछलीमछलियाँ
पक्षीपक्षीवृंद
बादलबादल
चश्माचश्मे
तारातारे
सुधीसुधिजन
रास्तारास्ते
रेखारेखाएँ
गोलागोले
डालडालें
साथीसाथियों
मेलामेले
मुर्गामुर्गे
साड़ीसाड़ियाँ
केलाकेले
नज़दीकनज़दीकियाँ
फूलफूल
कलाकलाएँ
मित्रमित्रजन
दलितदलित समाज
भाईभाई
बहिनबहिनें
जूताजूते
शीशाशीशे
कपड़ाकपड़े
शिक्षकशिक्षकगण
श्रोताश्रोतागण

इन्हे भी पढ़े:-

आशा करता हू कि आपको हमारा यह पोस्ट समझ में आया होगा अगर इस पोस्ट में कोई गलती नजर आती हैं तो आप हमें कमेंट करके जरूर बाताये जिससे कि हम उसको सही कर सके और आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो भी हमें कमेंट करके जरूर बतायें । जिससे कि  हम ऐसे ही आपके लिए प्रतियोगी परिक्षाओं से जुड़ी हूई जानकारी आप तक देते रहे धन्यवाद।

About the author

admin

Leave a Comment