HINDI POLICE RAILWAY

Varn kise kahate hain ( वर्ण किसे कहते हैं ) Bhed , Prakar , viched

Varn kise kahate hain ( वर्ण किसे कहते हैं ) :- वह छोटी से छोटी ध्वनि जिसके टुकड़े नही हो सकते उसे वर्ण (Varn) कहते हैं।

जैसे-अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, क्, ख् आदि।

Varn kise kahate hain ( वर्ण किसे कहते हैं ) Bhed , Prakar

Varn kise kahate hain ( वर्ण किसे कहते हैं ) Bhed , Prakar

Varn ke kitne bhed hote hain :- वर्णों के समुदाय को ही वर्णमाला कहते हैं। हिन्दी वर्णमाला में 52 वर्ण हैं। उच्चारण और प्रयोग के आधार पर हिन्दी वर्णमाला के दो भेद (Bhed ) किए गए हैं:

(क) स्वर

(ख) व्यंजन

Hindi Varnamala ( हिन्दी वर्णमाला ) पूरी जानकारी – Click here

(क) स्वर:- उच्चारण के समय की दृष्टि से स्वर के चार भेद किए गए हैं:

  1. ह्रस्व स्वर – जिन स्वरों के उच्चारण में कम-से-कम समय लगता हैं उन्हें ह्रस्व स्वर कहते हैं। ये चार हैं- अ, इ, उ, ऋ। इन्हें मूल स्वर भी कहते हैं।
  2. दीर्घ स्वर – जिन स्वरों के उच्चारण में ह्रस्व स्वरों से दुगुना समय लगता है उन्हें दीर्घ स्वर कहते हैं। आ, ई, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ दीर्घ स्वर के उदाहरण है।
  3. संयुक्त स्वर – दो भिन्न प्रकृति (विजातीय) स्वरों के मिलने से जो स्वर बनते है, उन्हें संयुक्त स्वर कहते है।
  4. प्लुत स्वर – जिन स्वरों के उच्चारण में दीर्घ स्वरों से भी अधिक समय लगता है उन्हें प्लुत स्वर कहते हैं। प्रायः इनका प्रयोग दूर से बुलाने में किया जाता है।

(ख) व्यंजन:- जिन वर्णों के पूर्ण उच्चारण के लिए स्वरों की सहायता ली जाती है वे व्यंजन कहलाते हैं। अर्थात् व्यंजन बिना स्वरों की सहायता के बोले ही नहीं जा सकते। ये संख्या में 34 हैं। इसके निम्नलिखित तीन भेद हैं:

  1. स्पर्श
  2. अंतःस्थ
  3. ऊष्म

स्पर्श

इन्हें पाँच वर्गों में रखा गया है और हर वर्ग में पाँच-पाँच व्यंजन हैं। हर वर्ग का नाम पहले वर्ग के अनुसार रखा गया है जैसे:

  • क वर्ग- क् ख् ग् घ् ङ्
  • च वर्ग- च् छ् ज् झ् ञ्
  • ट वर्ग- ट् ठ् ड् ढ् ण् (ड़् ढ़्)
  • त वर्ग- त् थ् द् ध् न्
  • प वर्ग- प् फ् ब् भ् म्

अंतःस्थ

ये निम्नलिखित चार हैं: य् र् ल् व्

ऊष्मपरिभाषा

ये निम्नलिखित चार हैं- श् ष् स् ह्

varn viched

किसी शब्द या वर्णों के समूह को अलग करने की प्रक्रिया को वर्ण विच्छेद (varn viched) कहते हैं |

जब हम वर्ण-विच्छेद करते हैं तो उस शब्द समूह से स्वर वर्णों और व्यंजन वर्णों को अलग किया जाता है |

शब्दों में या वर्ण समूह में जिसमें मात्राएँ होती हैं उन्हें उसके वास्तविक रूप में लिखा जाता है |

जैसे –

किताब = क् + इ + त् + आ + ब् + अ

कंचन = क् + अं + च् + अ + न् + अ

आशा करता हू कि आपको हमारा यह पोस्ट समझ में आया होगा अगर इस पोस्ट में कोई गलती नजर आती हैं तो आप हमें कमेंट करके जरूर बाताये जिससे कि हम उसको सही कर सके और आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो भी हमें कमेंट करके जरूर बतायें । जिससे कि  हम ऐसे ही आपके लिए प्रतियोगी परिक्षाओं से जुड़ी हूई जानकारी आप तक देते रहे धन्यवाद।

Wait for code!

About the author

admin

Leave a Comment