EBOOK ENGLISH

Tense in hindi | सीखने का आसान तरीका

Tense in hindi :-कार्य के समय के अनुसार Verb के रूप में जो परिबर्तन होता है, उसे ही Tense कहते है। अंग्रेजी व्याकरण (Grammar) में किसी क्रिया या घटना के समय के संदर्भ में‘Tense’उपयोग किया जाता है। समय का उल्लेख Tense से किया जाता है जो भूत (past), भविष्य future) या बर्तमान present) में होता है ।

Kinds of Tense (काल के प्रकार):-

Present Tense (बर्तमान काल) – आप अभी क्या कर रेहे हें ।
Past Tense (भूतकाल) – अपने बीते हुये समय में क्या किया था ।
Future Tense (भबीश्यत काल) – आप आने बाले समय में क्या करेंगे ।

Example-

Present- I go to market. – में बाजार जाता हूँ।
Past- I went to market. – में बाजार गेया था।
Future- I will go to market. – में बाजार जाऊंगा।

Note: 1. कार्य कि समय के सन्दर्भ में Tense तीन प्रकार का- Present, Past तथा Future.

2. काम करने की स्थिति के सन्दर्भ में Tense चार प्रकार का- Indefinite, Continuous, Perfect तथा Perfect Continuous.

 

और इन तीनों Tense के चार भेद होते है :-

1. Indefinite Tense (कार्य का अनिश्चित होना)– कार्य तो होता है लेकिन उसका समय का पता नेही चलता की कार्य अभी बोलते समय हो रहा है या कब हो रहा है, कब होता है । जेसे- में बाजार जाता हूँ कहने से बाजार जाने का कार्य कब होता है यह अनिश्चित है। इसतरह से वर्तमान, अतीत या भविष्य में जब कोई कार्य किया जाएगा या होगा तो ‘Indefinite tense’का प्रयोग करेंगे।
Example- He reads book. I will go to market. Rabi ate rice.

2. Continuous Tense (कार्य जारी)- जब कार्य जारी हो, चल रहा होता है तो Continuous tense का उपयोग किया जाता है।
Example- He is reading book. I will be going to market. Rabi was eating rice.

3. Perfect Tense (कार्य पूर्ण)- जब कार्य पूर्ण (Complete) हो जाता है तो Perfect Tense का प्रयोग करेंगे ।
Example- He has read book. I had gone to market. Rabi will have eaten rice.

4. Perfect Continuous Tense (कार्य होना और जारी)- जब कार्य पूर्ण और लंबे समय तक लगातार चल रहा होता है तो Perfect Continuous Tense का प्रयोग करेंगे।

Example- He has been reading book since 2 o’clock. I will be going to market for 2 hours. Rabi was eating rice since morning.

ईन चार तरीको से Present, Past & Future इन तीनों काल में बात होती है ।

Some Importance Tips:-

1-सभी Continuous Tense कि Main Verb के साथ +ing को जोड़ा जाता है। जेसे गाड़ी के लिए पहिये कि जरूरत पड़ती है उसी प्रकार चलने बाला कार्य के लिए Verb के साथ ing को जोग किया जाता है।

2-सभी Perfect Tense के साथ मतलब कार्य सम्पन्न होने पोर Verb Past Participle Form (V3) उपोयोग करें।

3-Future tense के साथ हमेसा ‘Will’ का प्रयोग किया जाएगा। अभी Modern English में shall का प्रयोग नही होता, लेकिन पहले I, We के साथ shall का प्रयोग किया जाता था।

4-Negative Sentence बनाने के लिए Subject के बाद एक Helping Verb उसके बाद Not लगाकर और यदि एक से अधिक Helping Verb है तो पेहला Helping Verb के बाद Not लगाकोर Negative Sentence बनाएँगे ।

5-Interrogative Sentence बनाने के लिए Subject से पहले एक Helping Verb को आगे लाएंगे और Interrogative Words सबसे पहले लिखा जाता है। Who- कौन, Whom- किसको, What- क्या/कौन-सा, Whose- किसका, Which- कौनसा, Where- कहाँ, When- कब, Why- क्यों, How- कैसे, How many- कितना (countable), How much- कितना (Non-countable), How far- कहाँ तक, How long- कब तक, How often- कितनी बार। जिस तरह का information चाहिए उस हिसाब से Wh-Word का प्रयोग करें।

First Person = The Person speaking- जो बोलता है।

Second Person = The Person spoken to- जिसके साथ बात होती है।

Third Person = The Person Spoken of – जिसके बारेमे बात होती है।

Tense in hindi

Tense in hindi

Tense in hindi | सीखने का आसान तरीका

Types of Tenses:-

3 प्रकार के Tense होते हैं जिनके नाम निम्नलिखित हैं:-

  1. Present Tense
  2. Past Tense
  3. Future Tense

और इन सभी Tense के 4 प्रकार हैं :-

Present Tense

  1. Present Indefinite Tense
  2. Present Continuous Tense
  3. Present Prefect Tense
  4. Present Prefect Continuous Tense

Past Tense

  1. Past Indefinite Tense
  2. Past Continuous Tense
  3. Past Perfect Tense
  4. Past Perfect Continuous Tense

Future Tense

  1. Future Indefinite Tense
  2. Future Continuous Tense
  3. Future Perfect Tense
  4. Future Perfect Continuous Tense

About the author

admin

Leave a Comment